ग्लेशियर (हिमनद ):-

हिमाचल प्रदेश में ग्लेशियर को स्थानीय भाषा में सिगड़ी कहा जाता है। ग्लेशियर को हिमनद के नाम से भी जाना जाता है।।

चन्द्रघाटी के ग्लेशियर :-बड़ा सिगड़ी :-यह हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा ग्लेशियर है ,जो लाहौलस्पिति में स्थित है। इस ग्लेशियर की लम्बाई 25 किलोमीटर स्थित है। इसी ग्लेशियर से चन्द्रताल झील बनी है।

गेफांग ग्लेशियर :-लाहौल के देवता गेफांग के नाम पर इसका नाम पड़ा है। गेफांग पर्वत चोटी  को “लाहौल का मणिमहेश ” कहा जाता है। इसकी आकृति स्विट्ज़रलैंड के मैटर हॉर्न के जैसी है

चंद्रा ग्लेश्यिर :–यह ग्लेशियर चंद्रताल नदी का उद्गम स्त्रोत है। यहां कोकसर के रास्ते पहुंचा जा सकता है

कुल्टी ग्लेशियर :–कोकसर के पास स्थित यह ग्लेशियर रोहतांग पार करने पर दीखता है

भागा घाटी के ग्लेशियर :-

भागा हिमनद :—यह ग्लेशियर भागा नदी को जल प्रदान करता है। लाहौल की भागा घाटी में स्थित इस ग्लेशियर तक कोकसर  ,टांडी के रास्ते पहुंचा जा सकता है।

लेडी ऑफ़ केलांग हिमनद :6061 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस ग्लेशियर को केलांग से देखा जा सकता है। इसका नामकरण अंग्रेज महिला “लेडी इलशेंडे  “द्वारा 100 बर्ष पूर्व किया गया था। बर्फ पिघलने के बाद इसकी आकृति महिला जैसी दिखाई देती है।

मुक्कीकला ग्लेशियर :6478 मीटर की ऊंचाई पर स्थित भागघाटी में यह ग्लेशियर स्थित है जिससे भागा नदी को जल मिलता है

पत्तन घाटी :—

सोनापानी ग्लेशियर:–1906 में बाल्किर  तथा पासकोई ने पहली बार तथा 1957 में भारतीय भू-गार्भिक सर्बेक्षण के क्यूरिन एवं मुंशी ने दूसरी बार इसका सर्बेक्षण किया। यह कुल्टी नाले के पास स्थित है।

पैराद  ग्लेशियर :–यहां पुत्तिरुन्नि से पहुंचा जा सकता है। पैराद का स्थानीय भाषा में अर्थ टूटी हुई चट्टान।

मियार ग्लेशियर :–लाहौलघाटी में स्थित यह ग्लेशियर मियार जलधारा को जल आपूर्ति करता है

कुल्लू जिले के ग्लेशियर :–

दुधोन ग्लेशियर :—कुल्लू जिले में 15 किलोमीटर लम्बे इस ग्लैशियर से पार्वती नदी को पानी मिलता है

पार्वती ग्लेशियर :—- पार्वती ग्लेशियर से पार्वती नदी को पानी मिलता है। यह 15 किलोमीटर लम्बा है।

ब्यास कुंड ग्लेशियर :-इस ग्लेशियर से ब्यास नदी को पानी मिलता है। यह ग्लैशियर रोहतांग दर्रे के समीप स्थित है।

भड्डल ग्लैशियर :—यह ग्लैशियर काँगड़ा के बड़ा भंगाल क्षेत्र में पीर पंजाल पर्वत श्रेणियों की ढालों पर स्थित है। इसे भद्दल नदी को जल मिलता है।

चन्द्रनाहन  ग्लेशियर:—ये ग्लैशियर शिमला जिले के रोहरु की चांसल चोटी पर स्थित है ,जिससे पब्बर नदी को जल मिलता है।

गारा ग्लैशियर :—

किनौर जिले में स्थित यह ग्लैशियर गारा खड्ड को पानी प्रदान करता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *